राजस्थान में दीपावली कब है2023

1. तिथि

राजस्थान में दीपावली 2023 में रविवार, 12 नवंबर को मनाई जाएगी।

2. शुभ मुहूर्त

लक्ष्मी पूजन का मुहूर्त: शाम 06:11 बजे से रात 08:15 बजे तक
दीपदान का मुहूर्त: रात 08:15 बजे से रात 10:15 बजे तक

3. तैयारियां

दीपावली के त्योहार की तैयारियां कई दिनों पहले से ही शुरू हो जाती हैं। लोग अपने घरों को साफ-सुथरा करते हैं, नए कपड़े खरीदते हैं, और मिठाईयां बनाते हैं।

4. परंपराएं

दीपावली के दिन लोग अपने घरों में दीपक जलाते हैं, आतिशबाजी करते हैं, और मिठाईयां बांटते हैं। इस दिन भगवान श्रीराम, माता लक्ष्मी, और भगवान गणेश की पूजा की जाती है।

5. महत्व

दीपावली का त्योहार हिंदुओं के लिए एक महत्वपूर्ण त्योहार है। इस दिन भगवान श्रीराम, माता सीता, और लक्ष्मण 14 साल के वनवास के बाद अयोध्या लौटे थे। इस दिन के बाद से असुरों के ऊपर देवताओं की विजय का प्रतीक माना जाता है।

6. आर्थिक महत्व

दीपावली का त्योहार भारत की अर्थव्यवस्था के लिए भी महत्वपूर्ण है। इस दिन लोग नए कपड़े, उपहार, और मिठाईयां खरीदते हैं। इससे देश में व्यापार और आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलता है।

7. सामाजिक महत्व

दीपावली का त्योहार लोगों को एक साथ लाने का भी अवसर देता है। इस दिन लोग एक-दूसरे के घर जाते हैं और मिठाईयां बांटते हैं। इससे लोगों के बीच प्रेम और सद्भाव बढ़ता है।

8. राजस्थान में दीपावली

राजस्थान में दीपावली का त्योहार बहुत धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन लोग पारंपरिक राजस्थानी पोशाक पहनते हैं और पारंपरिक राजस्थानी व्यंजन बनाते हैं।

9. राजस्थानी लोकगीत और लोकनृत्य

दीपावली के दिन राजस्थान में कई लोकगीत और लोकनृत्य गाए और नृत्य किए जाते हैं। इनमें से कुछ लोकगीत और लोकनृत्य हैं:
”दीप जले दीप जले”
”माटी के दीये लाए”
”लक्ष्मी जी आई रे”
”गणपति जी आयो रे”

10. राजस्थानी व्यंजन

दीपावली के दिन राजस्थान में कई पारंपरिक व्यंजन बनाए जाते हैं। इनमें से कुछ व्यंजन हैं:
”बाजरे की रोटी”
”घीया दूध की सब्जी”
”साग-भात”
”मक्की के दलिया”
”मिठाईयां”

निष्कर्ष

दीपावली एक ऐसा त्योहार है जो लोगों को खुशी और उल्लास से भर देता है। यह एक ऐसा त्योहार है जो लोगों को एक साथ लाता है और प्रेम और सद्भाव को बढ़ावा देता है।

Leave a Comment